जूट आयुक्त के कार्यालय: कोलकाता
वस्त्र मंत्रालय; भारत सरकार
अधिनियम:
 अधिनियमों :   1 2 3 4
 आदेश 1  2  3  4  5 6 7  8 9 10 11
 नियम 1 2
Print

Close

जूट पैकेजिंग सामग्री

(वस्तुओं पैकिंग में अनिवार्य उपयोग)

ACT, 1987 No. 10 OF 1987

[

एक अधिनियम के लिए कच्चे जूट और जूट पैकेजिंग सामग्री के उत्पादन के हित में कुछ वस्तुओं की, और उसके उत्पादन में लगे हुए व्यक्तियों आपूर्ति और वितरण में जूट पैकेजिंग सामग्री के अनिवार्य उपयोग के लिए प्रदान के लिए, और मामलों उससे संबंधित.

यह भारत गणराज्य के तीस आठवें वर्ष में संसद द्वारा अधिनियमित के रूप में निम्नानुसार : -

(1) 1.

इस अधिनियम जूट पैकेजिंग सामग्री (पैकेजिंग जिंसों में अनिवार्य प्रयोग करें) अधिनियम बुलाया जा सकता है, 1987.

2.

यह पूरे भारत के लिए विस्तार.

3.

यह ऐसी तारीख पर बल में आने के रूप में केन्द्रीय सरकार, आधिकारिक में अधिसूचना द्वारा नियुक्त राजपत्रित जाए.

(2)

इस अधिनियम में, जब तक कि संदर्भ से अन्यथा अपेक्षित:-

a.

"वस्तु" मतलब -

i.  किसी भी आवश्यक वस्तु
ii  किसी भी निर्मित या किसी अनुसूचित उद्योग द्वारा उत्पादित लेख

b.

" आवश्यक वस्तु" एक ही अर्थ में आवश्यक वस्तु अधिनियम के रूप में होगा, 1955 ;

c.

" जूट पैकेजिंग सामग्री" जूट का मतलब है, जूट यार्न, जूट सुतली, जूट बर्खास्त कपड़ा, टाट का कपड़ा, जूट बैग या किसी अन्य पैकेजिंग से कम नहीं युक्त सामग्री पचहत्तर प्रतिशत, वजन द्वारा, जूट;

d.

"अनुसूचित उद्योग" उद्योग में के रूप में एक ही अर्थ (विकास और विनियमन) अधिनियम नहीं होगा, 1951;

e.

"सलाहकार समिति स्थायी" मतलब स्थायी सलाहकार समिति अनुभाग के अधीन गठित 4.

(3) 1.

तत्समय प्रवृत्त किसी अन्य विधि में निहित किसी बात के होते हुए भी, केन्द्रीय सरकार, अगर यह संतुष्ट है, तो स्थायी सलाहकार समिति आवश्यक हैं, कि यह आवश्यक है के द्वारा यह करने के लिए की गई सिफारिशों पर विचार वस्तुओं के बाद में करने के लिएकच्चे जूट और जूट पैकेजिंग सामग्री के उत्पादन, और उसके उत्पादन में लगे हुए है, में प्रकाशित राजपत्र, सीधे आदेश द्वारा समय - समय पर व्यक्तियों के हितों, कि ऐसी वस्तु या वस्तुओं या ऐसे प्रतिशत तत्संबंधी वर्ग, के रूप में हो सकता हैआदेश में विनिर्दिष्ट है, पर और ऐसी तारीख से, के रूप में हो सकता है करेगा क्रम में निर्दिष्ट किया जाता है, या ऐसे जूट पैकेजिंग सामग्री के रूप में आदेश में विनिर्दिष्ट किया जा सकता है में आपूर्ति और वितरण के प्रयोजनों के लिए पैक.

कि जब तक ऐसे समय के रूप में धारा 4 के अंतर्गत स्थायी सलाहकार समिति गठित की है, केन्द्रीय सरकार इस उपधारा के तहत किसी भी क्रम करने से पहले, धारा 4 की उपधारा (2) में निर्दिष्ट मामलों पर विचार करेगा, और किसी भी क्रम इतनाजिस पर स्थायी सलाहकार समिति अपनी सिफारिशें करता है की तारीख से तीन महीने की समाप्ति पर संचालित रहेगा.

2.

हर उप - धारा (1) के अधीन किए गए आदेश रखा किया जाएगा के रूप में जल्द ही हो सकता है के बाद इसे बनाया है, संसद के प्रत्येक सदन के समक्ष, जबकि यह सत्र में कुल तीस दिन की अवधि के जो एक सत्र में शामिल हो सकता है के लिए,या दो या अधिक लगातार सत्रों में, और अगर, तुरंत सत्र या लगातार पूर्वोक्त सत्र के बाद सत्र की समाप्ति से पहले दोनों सदनों आदेश या दोनों सदनों में किसी भी संशोधन का मानना ​​है कि आदेश दिया नहीं होना चाहिए में सहमत,आदेश तत्पश्चात् ऐसे संशोधित रूप में ही प्रभाव हो जाएगा या कोई प्रभाव नहीं की हो, जैसा भी मामला हो, तो, तथापि, कि ऐसे किसी भी संशोधन या विलोपन पहले उस आदेश के तहत किया कुछ की वैधता पर प्रतिकूल प्रभाव डाले बिना किया जाएगा.

(4) 1.

केन्द्रीय सरकार, सम्मान जूट पैकेजिंग सामग्री जिसमें से उनकी पैकिंग में इस्तेमाल किया जाएगा में वस्तु या वस्तुओं या प्रतिशत तत्संबंधी के वर्ग का निर्धारण करने के लिए एक दृश्य के साथ एक स्थायी सलाहकार ऐसे व्यक्तियों के रूप में है मिलकर समिति का गठन करेगा, उस की राय मेंसरकार ने आवश्यक विशेषज्ञता मामले में सलाह देने के लिए.
 

2.

स्थायी सलाहकार समिति, निम्नलिखित मामलों पर विचार करने के बाद, केन्द्रीय सरकार को अपनी सिफारिशें होंगे संकेत मिलता है, अर्थात्: -

a.

जूट की सामग्री के उपयोग की मौजूदा स्तर;

b.

कच्चे उपलब्ध जूट की मात्रा;

c.

जूट की मात्रा उपलब्ध सामग्री;

d.

जूट उद्योग में कच्चे जूट के उत्पादन में लगे हुए व्यक्तियों के हितों की सुरक्षा;

e.

जूट उद्योग के निरंतर रखरखाव के लिए की जरूरत;

f.

जूट सामग्री में पैकिंग के लिए आवश्यक करने के लिए वस्तुओं की मात्रा है, जो अपनी राय में होने की संभावना है;

g.

स्थायी सलाहकार समिति के रूप में इस तरह के अन्य मामलों फिट लगता है कि हो सकता है.

(5)

कहाँ एक आदेश धारा 3 के किसी भी वस्तु, वस्तुओं के वर्ग या उसके किसी प्रतिशत के लिए उनकी आपूर्ति के लिए पैक जूट पैकेजिंग सामग्री और वितरण, जैसे वस्तु, वर्ग या वस्तुओं के प्रतिशत पर उसके और नहीं, तारीख से निर्दिष्ट करेगा की आवश्यकता होती है के तहत किया गया हैऐसे क्रम में आपूर्ति, या वितरित जब तक एक ही है कि आदेश के अनुसार में पैक किया जाता है:

बशर्ते कि इस खंड में कुछ भी नहीं या किसी भी वस्तु की आपूर्ति और वितरण के लिए लागू नहीं होगी,पूर्वोक्त तारीख से तीन महीने की अवधि के लिए या वस्तुओं प्रतिशत उसके तुरंत पहले कि तारीख जैसे वस्तु के वर्ग अगर, वस्तुओं या प्रतिशत के वर्ग, उसके किसी भी जूट पैकेजिंग सामग्री के अलावा अन्य सामग्री में पैक किया जा रहा थे.

(6)

केन्द्रीय सरकार, आदेश द्वारा, किसी भी व्यक्ति की आवश्यकता हो सकती है, जो अनुभाग के तहत पैकिंग के लिए जूट पैकेजिंग सामग्री का उपयोग करने के लिए आवश्यक है 5, इस अधिनियम के प्रयोजनों के लिए प्रस्तुत करने के लिए,-

a.

उसके कब्जे में ऐसी जानकारी, किसी भी वस्तु या वस्तुओं या प्रतिशत उसके के वर्ग है जो ऐसी पैकिंग की आवश्यकता करने के लिए सम्मान के साथ,इसके द्वारा, ऐसे रूप में और ऐसी अवधि के भीतर निर्दिष्ट है के रूप में क्रम में है कि सरकार द्वारा निर्दिष्ट किया जा सकता है किसी भी अधिकारी को.

b.

ऐसे स्थानों पर ऐसे अधिकारी द्वारा निरीक्षण के लिए और ऐसी अवधि के रूप में आदेश में यह द्वारा निर्दिष्ट किया जा सकता है के भीतर जूट पैकेजिंग सामग्री के ऐसे नमूने हैं.
 

(7)

केन्द्रीय सरकार द्वारा अधिकृत कोई अधिकारी (प्राधिकृत अधिकारी के रूप में संदर्भित बाद में) दर्ज कर सकते हैं, सभी उचित समय पर, किसी भी जगह में प्रवेश, और परिसर या वाहन है जहां किसी भी जूट पैकेजिंग सामग्री में पैक वस्तु का निरीक्षण संग्रहीत या आपूर्ति या वितरण के लिए रखा है, और निरीक्षण के लिए अपने उत्पादन की आवश्यकता होती है और उससे संबंधित किसी भी जानकारी के लिए पूछ सकते हैं.
 

(8) 1.

प्राधिकृत अधिकारी, अगर वह कारण को विश्वास है कि किसी भी वस्तु धारा 5 के उल्लंघन में पैक किया गया है और किसी भी जगह में secreted है है, परिसर या वाहन सकता है, में प्रवेश और ऐसी जगह, परिसर ऐसी वस्तु के लिए या वाहन की खोज. 

2.

कहाँ, किसी भी उप - धारा (1) के अधीन किए गए खोज का एक परिणाम के के रूप में, किसी भी वस्तु धारा 5 के सम्मेलन में पैक पाया गया है प्राधिकृत अधिकारी ऐसी वस्तु और किसी भी अन्य बात है जो उसकी राय में, के लिए उपयोगी हो जाएगा जब्त हो सकता है, याइस अधिनियम के तहत किसी भी प्रसंस्करण के लिए प्रासंगिक:
 
परंतु कि जहां यह ऐसे किसी वस्तु या बात को जब्त करने के लिए साध्य नहीं है, प्राधिकृत अधिकारी व्यक्ति पर एक आदेश है कि वे और न ही दूर करेगा, के साथ भाग की सेवा, हो सकता है या अन्यथा के साथ सौदा, वस्तु या बात के पिछले अनुमति के साथ छोड़करअधिकारी अधिकृत.

3.

आपराधिक 1973 प्रक्रिया संहिता के प्रावधानों, खोज और बरामदगी से संबंधित है, अभी तक के रूप में हर खोज या जब्ती इस खंड के अधीन किए गए के लिए लागू किया जाएगा हो सकता है.
 

(9)

जो कोई भी किसी भी वस्तु, वस्तुओं के वर्ग या उसके किसी प्रतिशत धारा 5 के उल्लंघन में किसी भी सामग्री पैक ठीक किसी भी है जो एक समान राशि के लिए विस्तार करने के लिए जूट पैकेजिंग सामग्री के अनुसार उपयोग किया जाना चाहिए था की लागत डबल कर सकते हैं के साथ दंडनीय हो जाएगाआदेश की धारा 3 के तहत बनाया.
 

(10)

यदि किसी भी व्यक्ति जब किसी भी धारा 6 के अधीन किए गए पेनल्टी किसी भी जानकारी या नमूना प्रस्तुत आदेश द्वारा आवश्यक है, ऐसी जानकारी या नमूना प्रस्तुत करने में विफल रहता है, या किसी भी बयान या किसी भी जानकारी है जो किसी विशेष सामग्री और जो वह जानता है में गलत है प्रस्तुत है, याउचित है, या कोई बयान या नमूना बनाता है, ऐसी जानकारी या नमूना प्रस्तुत करने में विफल रहता है, या किसी भी बयान करता है या किसी भी जानकारी है जो किसी विशेष सामग्री में गलत है और जो वह जानता है, या उचित बयान है, या कोई बयान या नमूना बनाता प्रस्तुत है, विफल रहता हैऐसी जानकारी या आदि प्रस्तुत विश्वास है, गलत हो या विश्वास करता है यह सच्चा होना, वह जुर्माने का दण्ड जो पांच हजार रुपये तक का विस्तार कर सकते हैं किया जाएगा नहीं कारण.
  

(11)

1.

जहां इस अधिनियम के तहत एक अपराध एक कंपनी द्वारा किया गया प्रतिबद्ध है हर व्यक्ति को, जो समय पर अपराध किया गया था बाड़ के प्रभारी थे, और कंपनी के व्यापार के संचालन के लिए करने के लिए कंपनी जिम्मेदार था, के रूप मेंकंपनी के रूप में अच्छी तरह से अपराध का दोषी समझा किया जाएगा और के खिलाफ दीं और तदनुसार दंडित दायी होगा. 

बशर्ते कि इस उपधारा में निहित कुछ भी नहीं किसी भी ऐसे किसी भी इस अधिनियम में दी गई सजा के लिए उत्तरदायी व्यक्ति सौंपनेवाला, अगर वह साबित होता है कि अपराध उनकी जानकारी के बिना प्रतिबद्ध किया गया था या कि वह सभी कारण परिश्रम का प्रयोग किया था इस तरह के अपराध के कमीशन को रोकने जाएगा.
 

2.

उप - धारा (1), जहां इस अधिनियम के तहत एक अपराध की सहमति या मिलीभगत के साथ प्रतिबद्ध किया गया है, या की ओर से किसी भी उपेक्षा किसी भी निदेशक, प्रबंधक, सचिव या कंपनी के अन्य अधिकारी करने के लिए attributable है में निहित किसी बात के होते हुए भीऐसे निदेशक, प्रबंधक, सचिव या अन्य अधिकारी भी है कि अपराध का दोषी समझा जाएगा और के खिलाफ दीं और तदनुसार दंडित दायी होगा.

स्पष्टीकरण के लिए इस खंड के प्रयोजनों,
 

a. "कंपनी"; किसी भी शरीर कॉर्पोरेट का मतलब है और एक फर्म या व्यक्तियों के अन्य सहयोग भी शामिल है;
            और  
b. "निदेशक", एक फर्म के संबंध में, फर्म में भागीदार का मतलब है.
 
(12)

दंड प्रक्रिया, 1973 के कोड में निहित किसी बात के होते हुए भी, हर इस अधिनियम के तहत दंडनीय अपराध संज्ञेय किया जाएगा.
 

(13)

केन्द्रीय सरकार, आदेश द्वारा सरकारी राजपत्र में प्रकाशित कर सकते हैं, प्रत्यक्ष है कि इस अधिनियम के किसी प्रावधान के तहत यह द्वारा प्रयोक्तव्य, धारा 3 के अधीन या धारा 16 के तहत आदेश बनाने के लिए या करने के लिए धारा 17 के तहत नियम बनाने की शक्ति के अलावा अन्य शक्तियों करेगा, ऐसे मामलों और ऐसी शर्तों के अधीन, यदि कोई हो, के रूप में आदेश में विनिर्दिष्ट किया जा सकता है के संबंध में भी द्वारा प्रयोक्तव्य -

a. ऐसे अधिकारी या केन्द्रीय सरकार को अधिकार अधीनस्थ;
                             अथवा
b. ऐसी राज्य सरकार या ऐसे अधिकारी या राज्य सरकार के अधीनस्थ किसी प्राधिकारी के रूप में आदेश में विनिर्दिष्ट किया जा सकता है.
 
(14)

केन्द्रीय सरकार को ऐसे निर्देश देने के रूप में यह किसी राज्य सरकार को इस अधिनियम के प्रावधान के निष्पादन में ले जाने के लिए रूप में आवश्यक विचार कर सकते हो सकता है
 

(15)

नहीं, सूट, अभियोजन या अन्य कानूनी कार्यवाही केन्द्र सरकार, राज्य सरकार या किसी भी केन्द्रीय सरकार के अधिकारी या कर्मचारी के खिलाफ झूठ जाएगा. किसी राज्य सरकार या जो कुछ भी अच्छा विश्वास में किया जाता है या इस अधिनियम या किसी भी नियम या आदेश के तहत बनाए के तहत किया जा करने का इरादा के लिए किसी भी प्राधिकृत अधिकारी के.
 

(16)

1.

यदि केन्द्रीय सरकार की राय है कि यह आवश्यक या तो जनता के हित में करना समीचीन है, यह, सरकारी राजपत्र में प्रकाशित आदेश द्वारा, किसी भी व्यक्ति या व्यक्तियों के वर्ग छूट दे सकती है, आपूर्ति या वितरण किसी भी वर्ग या वस्तुओं की वस्तुएक धारा 3 के अधीन किए गए आदेश के संचालन से.
 

2.

हर उप - धारा (1) के अधीन किए गए आदेश रखा किया जाएगा के रूप में जल्द ही हो सकता है के बाद इसे बनाया है, संसद के प्रत्येक सदन के समक्ष, जबकि यह सत्र में कुल तीस दिन की अवधि के जो एक सत्र में शामिल हो सकता है के लिए,या दो या अधिक लगातार सत्रों में, और अगर, तुरंत सत्र या लगातार पूर्वोक्त सत्र के बाद सत्र की समाप्ति से पहले दोनों सदनों आदेश या दोनों सदनों में किसी भी संशोधन का मानना ​​है कि आदेश दिया नहीं होना चाहिए में सहमत,आदेश तत्पश्चात् ऐसे संशोधित रूप में ही प्रभाव हो जाएगा या कोई प्रभाव नहीं की हो, जैसा भी मामला हो, ऐसा है, तथापि, कि पहले उस आदेश के तहत किया कुछ की वैधता पर प्रतिकूल प्रभाव डाले बिना ऐसे किसी भी संशोधन या विलोपन किया जाएगा.
 

(17) 1.

केन्द्रीय सरकार, शासकीय राजपत्र में अधिसूचना द्वारा, अधिनियम के प्रयोजनों को कार्यान्वित करने के लिए नियम बनाने की.
 

2.

इस अधिनियम के तहत केन्द्रीय सरकार द्वारा किए गए प्रत्येक नियम, निर्धारित हो जाएगा के रूप में जल्द ही के रूप में बाद इसे बनाया है हो सकता है, संसद के प्रत्येक सदन के समक्ष, जबकि यह सत्र में कुल तीस दिन की अवधि के जो एक सत्र में शामिल हो सकता है के लिए,या दो या अधिक लगातार सत्रों में, और अगर, तुरंत सत्र या लगातार पूर्वोक्त सत्र के बाद सत्र की समाप्ति से पहले दोनों सदनों के शासन में किसी भी संशोधन या दोनों सदनों का मानना ​​है कि शासन किया जा नहीं करना चाहिए में सहमत,शासन ऐसे संशोधित रूप में ही उसके बाद प्रभाव नहीं होगा या कोई प्रभाव नहीं की हो, जैसा भी मामला हो, हां, तो तथापि, कि ऐसे किसी भी संशोधन या विलोपन प्रतिकूल प्रभाव डाले बिना कुछ की वैधता पहले कि शासन के अधीन किया को किया जाएगा

S. RAMAIAH
Secy. the Govt. of India

Acts:

Jute Packaging Materials (Compulsory Use in Packing Commodities) Act, 1987

JMDC ACT 1983

Jute Manufacturers Cess Act 1983

National Jute Board ACT 2008

Orders:

Notification for withdrawal of minimum price dated 7th July 2006

Raw Jute Control Order for Traders No. Jute (Mktg.)/45/2005 dated 26-12-2005

Raw Jute Control Order No. Jute (Mktg.)/46/2005 dated 23-12-2005

Reasonable Price Notification S. O. 1746 (E) dated 12-12-2005

Jute & Jute Textiles Control ORDER OF 19th April 2000.

Jute & Jute Textile Control ( Amendment ) ORDER 2002 

Jute & Jute Textile Control ( Amendment ) ORDER 2005 

Powers under Jute Packaging Act; ORDER of 26th August 1987

Mandatory Jute Packaging ORDER of 28th September, 2004

Jute Batching Oil Order of 28th August 2001

Jute Bags Marking Order of 4th July, 2002

Rules:

JMDC Procedural RULES 1984

Jute Packaging Materials Rules of 26th August 1987